पंचक आरंभ अक्तूबर व समाप्ति काल 2022

पंचक  को अशुभ नक्षत्र श्रेणी में माना गया है जब पंचग चल रहे होते है तब कुछ शुभ कार्य की शुरवात नहीं करते है। जैसे दक्षिण दिशा की ओर यात्रा करना, घर की छत डालना , दिवार का निर्माण , चारपाई को बुनना , तांबा , पीतल जमा करना अशुभ माना गया है। यदि आपको इन कार्यो की शुरवात करनी है तो पहले आपको इसका उपाय करना होगा। पंचग की शांति के लिए यह उपाय करे फिर यह कार्य शुरू करे।

ज्योतिष के अनुसार पांच नक्षत्र श्रेणी या मेल को पंचग कहा जाता है। इन पांच नक्षत्ररो के संयोग से नक्षत्र आता है।

गण्डमूल नक्षत्र प्रभाव और ज्योतिष उपाय

× Whatsapp