ॐ हनुमते नमः मंत्र के चमत्कारी फायदे तथा जाप विधि

ॐ हनुमते नमः मंत्र के चमत्कारी फायदे तथा जाप विधि: हनुमान जी एक सक्रिय देवताओ में आते है यदि हनुमान जी की सच्चे मन से पूजा और सही नियम रखने पर हनुमान जी अपने भगतो का ख्याल रखते है और उनकी मनोकामनाएं पूरी करते है। जो व्यक्ति हनुमान जी की पूजा नियमित रूप से करता है वह व्यक्ति हनुमान जी  के नियमों पालन करता है जो व्यक्ति हनुमान जी पूजा करता है वह व्यक्ति कभी शराब और मांस का सेवन नहीं करता है।

हनुमान जी श्री राम जी के परम भक्त थे। श्री राम के संकट के समय  हनुमान जी ने श्री राम का साथ दिया था। हनुमान जी ने श्री राम से वादा किया था की जो व्यक्ति उसकी पूजा करेगा और नियमों का पालन करेगा हनुमान जी उस व्यक्ति सहायता करेंगे और उस व्यक्ति की मनोकामनाएं पूरी करेंगे। आज हनुमान जी अपने परम भगतों का बहुत ध्यान रखते है और उनकी हर मनोकामनाएं पूर्ण करते है।

आज हम इस वेबसाइट के लेख में हम आपको ॐ हनुमते नमः मंत्र के फायदे और जाप विधि के बारे में बताने जा रहे। और श्री राम और हनुमान जी से जुडी अन्य जानकारी भी प्रदान करेंगे। ॐ हनुमते नमः मंत्र के बारे में जानने के लिए इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़े।

मां कामाख्या बीज मंत्र एवं कामाख्या देवी के परिचय, विधि और टोटके

हनुमते नमः मंत्र जाप के फायदे | Benefits of chanting the mantra Hanumante Namah

ॐ हनुमते नमः मंत्र यह मंत्र हनुमान जी का कष्ट निवारण और प्रभावशाली मंत्र है। इस मंत्र का नियमित रूप से जप करने से हनुमान जी खुश होते है और भगतों की हर एक मनोकामनाएं पूरी करते है यदि कोई भगत अपनी मंत ले कर बाबा के दरबार में जाता है तो वह उसकी मंत पूरी होती है यदि वह लम्बी बीमारी से पेरशान चल रह है  या वह कोई घर के झंझटो से पेरशान है तो हनुमान जी उसकी जरूर सुनते है और उनको कष्टों से निवारण मिलता है। इस मंत्र का जाप हमेशा अपने परेशानियों को दूर करने के लिए जाप करना चाहिए। इस मंत्र का जाप करने से हर एक विषय में आपको सफलता मिलेगी।

पंचमुखी हनुमान मंत्र के बारे में कुछ महत्वपूर्ण जानकारी

ओम हं हनुमते नमः मंत्र जप विधि | Om Hanumante Namah Mantra Chanting Method

ओम हं हनुमते नमः मंत्र करने की विधि निचे पैराग्राफ में हम बताने जा रहे है ध्यान से पढ़े।

  1. इस मंत्र की जाप की क्रिया को शनिवार या मंगवार के दिन करे। शनिवार और मंगवार हनुमान जी के वार है।
  2. हनुमान जी पीले वस्त्र से प्रसन्न होते है इसलिए शिनवार और मंगवार के दिन पीले वस्त्र धारण करे।
  3. सफ़ेद रंग का आशान लगा कर हनुमान जी की मूर्ति के सामने बैठ कर “ॐ हं हनुमते नमः” मंत्र का जाप 108 बार रुद्राक्ष की माला से जाप करना है
  4. हनुमान मंत्र जाप क्रिया आप मंदिर में जाकर भी कर सकते है और साथ हनुमान चालीस का भी पाठ कर सकते है।
  5. शनिवार और मंगवार को आप प्रसाद के रूप में गुड़ , सिंदूर, तेल को चढ़ा सकते है। इस चढ़ावे से हनुमान जी बहुत प्रसन्न होते है ऐसा करने से आपको भी इसका फायदा मिलेगा।

नर्मदेश्वर शिवलिंग क्या है ? जानिए पूजा करने के लाभ एवं शिवलिंग पहचान

ॐ हं हनुमते नमः मंत्र जाप करने का महत्व | Importance of chanting the mantra Om Hanumante Namah

ॐ हं हनुमते नमः मंत्र का व्यक्ति के जीवन के लिए बहुत महत्व है इस मंत्र जाप से आपको भय से मुक्ति मिलती है यह हनुमान जी का संकट मोचन मंत्र कहा जाता है यह मंत्र व्यक्ति के जीवन में बहुत महत्व रखता है इस मंत्र जाप से व्यक्ति के कष्ट निवारण के साथ उसकी मनोकामनाएं भी पूरी होती है

इस मंत्र का इंसान के जीवन में बहुत महत्व है यदि आप अपने कार्य की शुरुवात कर रहे है तो आप इस मंत्र जाप से कार्य की शुरुवात करे 100% लाभ मिलेगा। इस मंत्र जाप से आपको रोगो से मुक्ति मिलती है इसके अलावा शत्रु , कष्ट , क्रोध से छुटकारा मिलेगा।

× Whatsapp