मनपसंद जीवनसाथी पाने के लिए करें ये यह सरल उपाय

आज इस लेख में हम आपको मनपसंद जीवनसाथी पाने और वैवाहिक अड़चनें  के लिए उपाय बताने जा रहे आज इस आधुनिक दौर हर लड़का एवं लड़की अपने मनपसंद से शादी करना चाहता है। यही वजह है कि लोग इसके लिए विभिन्न प्रकार के उपाय और अनुष्ठान करते है।  इस आधुनिक युग में मनपसन्द प्यार और जीवनसाथी पाने के लिए लड़के और लड़की को बहुत सी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। आप अपने मनपसंद जीवनसाथी पाने के लिए आप ज्योतिष शास्त्र का सहारा भी ले सकते है।

कई बार ऐसा होता है जीवनसाथी मनचाह मिल जाता है लेकिन कुछ कारणों के चलते लड़का या लड़की के शादी समय पर नहीं होती है। इसका मुख्य कारण है की शादी का योग नहीं बन पाता है। इसलिए विवाह में आ रही तमाम अड़चनों को दूर करने कई उपाय है इन उपायों करने के बाद मनपसंद और योग्य वर या वधु मिल जाता है।

1. देवी की साधना से वैवाहिक जीवन में आ रही अड़चन दूर होगी

यदि आप अपने पुत्र के लिए योग्य वधु या फिर पुत्री के लिए योग्य वर तलाश रहे है तो आपको अपनी इच्छा को पूरी करने लिए वाजोट पर कात्यायनी यंत्र एव कार्यसिद्धि माला को स्थापित करके मंत्र का रोजाना एक माला जाप करना चाहिए। इस मंत्र जाप क्रिया के लिए आशान लगा कर एक एक निश्चित समय बना ले।

ॐ हनुमते नमः मंत्र के चमत्कारी फायदे तथा जाप विधि

2. लड़के के विवाह के लिए मंत्र का जाप –

पत्नीं मनोरमां देहि मनोवृत्तानुसारिणीम्।

तारिणीं दुर्गसंसारसागरस्य कुलोद्भवाम्।।

3. लड़की के विवाह के लिए मंत्र का जाप-

हे गौरि शंकरार्धांगि यथा त्वं शंकरप्रिया।

मां कुरु कल्याणि कान्तकातां सुदुर्लभाम्॥

4. वास्तु दोष

यदि आपको अपने बच्चो के शादी में परेशानिओं का सामना करना पड़ रहा है आपकी घर की दशा सही नहीं चल रही है तो आपको एक बार अपने घर के वास्तु की और ध्यान देना चाहिए। आपके देव स्थान को साफ रखे। आपके के वास्तु और देव स्थान गन्दा होने के कारण ही आपके मांगलिक कामो में बाधाएँ आ रही है। लड़की से बृहस्पति देवता की पूजा कराएं।

मां कामाख्या बीज मंत्र एवं कामाख्या देवी के परिचय, विधि और टोटके

5. शादी का सपना पूरा करने के लिए करें शिव-पार्वती की साधना

यदि आपके शादी में रुकावटे आ रही है तो आप तन मन से देव शिव पार्वती की नियमित रूप प्रतदिन साधना करे। पुरष को मनपसंद पत्नी पाने के लिए शिव चालीसा का और लड़कियों को मनपसंद एवं योग्य पति पाने के लिए पार्वती मंगल पाठ करना चाहिए। भगवान शिव एक ऐसे देवता है जो हमेशा जल्दी प्रसन्न होते है इसलिए शिव भगवान को भोलेनाथ भी कहते है।

× Whatsapp